Utility News In Hindi : Many schemes can be closed in Madhya Pradesh | बंद होंगी बेवजह की योजनाएं, मानसून सत्र में हो सकता है फैसला


इन स्कीमों में एक-एक रु. के टोकन पर खुले थे मद 

मध्यप्रदेश मध्यम वर्ग आयोग के लिए 2016 से बजट में एक रुपए के टोकन रखे जा रहे हैं। 



– भारत भवन में कलाग्राम की स्थापना होनी थी, लेकिन एक रुपए का टोकन बजट दिया जाता रहा। 



– राज्य मंत्रालय के पुस्तकालयों के अभिलेखों एवं दुर्लभ पुस्तकों के संरक्षण के लिए बजट प्रावधान तीन साल से नगण्य रहा। 



– सार्वजनिक उपक्रम विभाग के अधीन टास्क फोर्स का गठन का मद। 



– ग्वालियर में राजा मानसिंह कला केंद्र में भी एक रुपए ही रखा गया। 



– स्व. देवी प्रसाद शर्मा स्मृति पुरस्कार योजना में एक लाख रुपए का बजट रखा गया, लेकिन खर्च नहीं हुआ। 



 – भीमा नायक प्रेरणा केंद्र में निर्माण और स्वाधीनता सेनानियों-महापुरुषों की जयंती व पुण्यतिथि पर कार्यक्रम होने थे, नहीं हुए। 



– सिंहस्थ 2016 में संगोष्ठी के आयोजन में 2016-17 में 28 लाख रुपए दिए गए। इसके बाद यह उपयोग हीन हो गया। बजट में यह मद खुला है और एक रुपए टोकन राशि दी जा रही है। 



– अमर शहीद चंद्रशेखर राष्ट्रीय सम्मान तीन साल पहले शुरु हुआ, लेकिन बजट नहीं दिया गया। 



– चारा उत्पादन केंद्र भी नहीं खुले। भिखारियों के रहने के लिए भिछुक गृह खोले जाने थे जो नहीं खुले। 



– दधीचि पुरस्कार योजना शुरू की गई। 2016-17 में दो लाख रुपए का प्रावधान किया गया जो खर्च नहीं हुए। अब टोकन राशि रखी जा रही है। 

 



Source link

Leave a Reply