Uttar pradesh News In Hindi : Yogi Adityanath Scheme | Kanya Sumangala Yojana Scheme: Yogi Adityanath launches Kanya Sumangala Yojana Scheme Today Dha | ‘घर की लक्ष्मी’ के लिए कन्या सुमंगला योजना की शुरूआत, जन्म से लेकर पढ़ाई का सरकार करेगी इंतजाम


  • राज्य सरकार ने धनतेरस पर बेटियों को दी सौगात
  • राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, सीएम योगी व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने योजना की शुरूआत की
  • सीएम ने कहा- भ्रूण हत्या पर लगेगी रोकथाम, बेटियों का जन्म उत्सव के रुप में मनाया जाएगा 

Dainik Bhaskar

Oct 26, 2019, 11:32 AM IST

लखनऊ. धनतेरस के दिन उत्तर प्रदेश में जन्म लेने वाली बेटियों के लिए ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’ की शुरुआत हुई है। योजना के तहत तीन लाख से कम वार्षिक आय वाले परिवारों को बेटी पैदा होने और शिक्षा के लिए सरकार आर्थिक मदद देगी। राजधानी में शुक्रवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने संयुक्त रुप से इस योजना का शुभारंभ किया। 

 

साल 2019-20 के बजट में योगी सरकार ने कन्या सुमंगला योजना के लिए 12 सौ करोड़ रुपए का प्राविधान किया था। यह योजना बेटियों के लिए सुरक्षा कवच बनेगा। बेटी पैदा होने से लेकर उसकी पढ़ाई में आर्थिक मदद की जाएगी। इस योजना के तहत अब तक दो लाख से अधिक पंजीकरण ऑनलाइन हो चुके हैं। जबकि साढ़े तीन लाख पंजीकरण ऑफलाइन किया गया है। 

 

धन और ऐश्वर्य तब आएगा, जब व्यक्ति स्वस्थ्य होगा

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि, धनतेरस के दिन को हम लोग धन और ऐश्वर्य की देवी मां लक्ष्मी के पूजन के रूप में मनाते हैं। खासतौर पर इस दिवस धन और ऐश्वर्य तब आएगा, जब व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वस्थ्य होगा। कहा कि, प्रधानमंत्री की प्रेरणा से सरकार ने नारी सशक्तिकरण से जुड़ी हुई योजनाओं को न केवल प्रदेश के अंदर लागू किया, अपितु केंद्र की योजनाओं को भी प्रदेश के अंदर प्रभावी ढंग से लागू करने का कार्य किया। विगत पांच वर्षों के दौरान देश के अंदर तीन दर्जन से अधिक नारी सशक्तिकरण और कन्या सुमंगला से जुड़ी हुई योजनाएं भारत सरकार ने लागू किया है। आज हम प्रदेश के अंदर मातृ मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर के आंकड़ों को देखते हैं तो विगत पांच वर्षों में इसमें भारी परिवर्तन देखने को मिला है। 

 

ऐसा कार्यक्रम किसी और राज्य में नहीं

स्मृति ईरानी ने कहा कि, धनतेरस का कार्यक्रम शायद ही कहीं किसी और राज्य में इस तरह मनाया गया होगा। मुख्यमंत्री जी को मैं इसके लिए बधाई देती हूं। केंद्र और राज्य की सरकार ने राज्य की माताओं के लिए बड़ी व्यवस्था की, मातृ योजना के तहत 7 लाख से अधिक माताओं को लाभ मिला है। कन्या सुमंगला योजना के द्वारा घर में लक्ष्मी के आते ही उसे उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। 

 

क्रमवार मिलेगा पैसा- 

 

प्रथम श्रेणी द्वितीय श्रेणी तृतीय श्रेणी चतुर्थ श्रेणी पंचम श्रेणी षष्ठम श्रेणी
बालिका के जन्म होने पर दो हजार रुपए।  एक वर्ष तक के पूर्ण टीकाकरण पर एक हजार रुपए। कक्षा एक में प्रवेश पर दो हजार रुपए। कक्षा पांच में प्रवेश पर दो हजार रुपए। कक्षा 9 में प्रवेश पर तीन हजार रुपए। 10वीं/12वीं पास करके स्नातक/दो वर्षीय या अधिक अवधि के डिप्लोमा कोर्स पर पांच हजार रुपए।

 

योजना के लिए यह है पात्रता-

  • परिवार की वार्षिक आय अधिकतम तीन लाख रुपए तक ही होनी चाहिए।
  • उत्तर प्रदेश का स्थायी निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • परिवार की अधिकतम दो बेटियों को इस योजना का लाभ मिलेगा। 

 

इस तरह करें आवेदन- 
इस योजना के तहत दो बच्चे वाले परिवार की दो ही बेटियों को योजना का लाभ दिया जाएगा। अगर पहली बेटी के बाद जुड़वा बेटी होती हैं तो तीनों को योजना का लाभ दिया जाएगा। बालिका के अवयस्क होने पर देय राशि उसकी माता के व माता का निधन होने पर पिता के खाते में जाएगी। माता पिता दोनों की मौत होने पर राशि बालिका के खाते में जाएगी। योजना में वेबसाइट www.mksy.up.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन जनसुविधा केंद्र/सीएससी सेंटर से किया जा सकता है। जो ऐसा नहीं कर सकते वे अपने फार्म भरकर खंड विकास अधिकारी, एसडीएम, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उपमुख्य परिवीक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा कर सकते हैं।

 

DBApp

 

 



Source link

Leave a Reply